HINDI

bhasha kise kahate hain? भाषा किसे कहते हैं? जानिए आसान शब्दो मे

bhasha kise kise kahte hain

bhasha kise kahate hain -दोस्तो आज हम बात करेगे की भाषा किसके कहते हैं इसकी सही परिभाषा क्या हैं ओर यह कितने प्रकार के होते हैं

तो जानिए सरल शब्दो मे की भाषा किसे बोलते हैं भाषा वह माध्यम हैं , जिसके द्वारा हम अपनी बात दूसरों तक पहुचाते हैं, तथा दूसरों की बात को समझते हैं

 

कुछ महान विधावनों के अनुसार भाषा की परिभाषा कुछ इस प्रकार से हैं

  • ‘भाषा वह साधन है जिसके द्वारा मनुष्य अपने विचार दूसरों तक भलीभाँति प्रकट कर सकता है और दूसरों के विचार स्पष्टतया समझ सकता है।’ डॉ. कामता प्रसाद गुरु
  • ‘विभिन्न अर्थों में संकेतित शब्दसमूह ही भाषा है, जिसके द्वारा हम अपने विचार या मनोभाव दूसरों के प्रति बहुत सरलता से प्रकट करते हैं।’’ :आचार्य किशोरीदास
  • ‘भाषा वागेन्द्रिय द्वारा नि:स्तृत उन ध्वनि प्रतीकों की संरचनात्मक व्यवस्था है जो अपनी मूल प्रकृति में यादृच्छिक एवं रूढ़िपरक होते हैं और जिनके द्वारा किसी भाषा-समुदाय के व्यक्ति अपने अनुभवों को व्यक्त करते हैं, अपने विचारों को संप्रेषित करते हैं और अपनी सामाजिक अस्मिता, पद तथा अंतर्वैयक्तिक सम्बन्धों को सूचित करते हैं।’ :रवीन्द्रनाथ
  • ’मनुष्य और मनुष्य के बीच वस्तुओं के विषय में अपनी इच्छा और मति का आदान-प्रदान करने के लिए व्यक्त ध्वनि-संकेतों का जो व्यवहार होता है, उसे भाषा कहते है।’ –डाॅ. श्यामसुंदरदास।
  • ’जिन ध्वनि-चिह्नों द्वारा मनुष्य परस्पर विचार-विनिमय करता है, उसको समष्टि रूप से भाषा कहते है।’ –डाॅ. बाबूराम सक्सेना
  • ’भाषा मनुष्यों की उस चेष्टा या व्यापार को कहते है, जिससे मनुष्य अपने उच्चारणपयोगी शरीरावयवों से उच्चारण किए गए वर्णनात्मक या व्यक्त शब्दों द्वारा अपने विचारों को प्रकट करते है।’ –मंगलदेव शास्त्री

 

bhasha kise kahate hain? ओर भाषा कितने प्रकार के होते हैं?

भाषा के मुख्य तीन प्रकार के होते हैं

  1. मौखिक भाषा
  2. लिखित भाषा
  3. सांकेतिक भाषा

 

मौखिक भाषा– मौखिक भाषा वह भाषा होती हैं जिसके द्वारा हम अपनी बातों को बोल कर व्यक्त करते हैं अर्थात हम अपनी बातों से बोल कर समझते हैं उसके मौखिक भाषा कहते हैं

जैसे:– नाटक, भाषण, फ़िल्म आदि!

लिखित भाषा – लिखित भाषा वह भाषा होती हैं जिसके द्वारा हम अपनी बातों को लिख कर व्यक्त करते हैं अर्थात हम अपनी बातों को लिख कर समझना होता हैं उसके हम लिखित भाषा बोलते हैं

जैसे:- ग्रन्थ, अख़बार, पुस्तके आदि!

सांकेतिक भाषा – सांकेतिक भाषा वह भाषा होती हैं जिसमे हम अपनी बातों को किसी संकेत या किसी प्रकार के चिन्ह द्वारा व्यक्त करते हैं करते हैं अर्थात हम अपनी बातों को इसरे ओर चिन्ह के माध्यम से सकेतित करते हैं या बताते हैं

Note:-

  1. सांकेतिक भाषा का इस्तमल अधिकतर traffic rules मे किया जाता हैं लोगो को चिन्हो के माध्यम से traffic rules समझाया जाता हैं
  2. छोटे बच्चो के लिए इस भाषा का प्रयोग किया जाता हैं उनको समझाने के लिए
  3. ओर इस भाषा का प्रयोग गूंगे (जो लोग बोल नही सकते हैं ) वो करते हैं

मात्रभाषा किसे बोलते हैं – जिस भाषा का प्रयोग हम पचपन से बोलने मे करते हैं उसे मात्रभाषा कहते हैं

राजभाषा क्या होती हैं – जब किसी देश म़ें सरकारी काम म़ें जिस भाषा का प्रयोग होता है उसे राजभाषा
कहते हैं।

Latest update पाने के लिए हमारे  Telegram Group को like करे. अगर आपको bhasha kise kahate hain? भाषा किसे कहते हैं? जानिए आसान शब्दो मे, पसंद आये तो इसे अपनी प्रियजनों को शेयर करे. और हमें comment box में comment करे

Leave a Comment